शिक्षण संस्थानों के बंद होने के दौरान विद्यार्थी डिजिटल ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म का पूरा उपयोग करके अपनी शिक्षा जारी रख सकते हैं – ‘निशंक

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों से 22 मार्च, 2020 को जनता कर्फ्यू में सहयोग करने की अपील की

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने छात्रों से कहा कि नॉवल कोरोना वायरस के चलते लिए गए ऐहतियातन कदम के फलस्वरूप शिक्षण संस्थानों को बंद किया गया है लेकिन सभी विद्यार्थी इस अवधि के दौरान उपलब्ध डिजिटल ई-लर्निंग प्लेटफार्मों का पूरा उपयोग करके अपनी शिक्षा जारी रख सकते हैं। मंत्री महोदय ने शिक्षण संस्थानों से डिजिटल लर्निंग को बढ़ावा देने और छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा के लिए एमएचआरडी द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले विभिन्न डिजिटल/ई-लर्निंग प्लेटफार्मों के बारे में जागरूक करने का भी आग्रह किया है ।
केंद्रीय मंत्री ने छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों से 22 मार्च, 2020 को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर जनता कर्फ्यू का पालन करने की अपील की।श्री पोखरियाल ने कहा कि कल जनता कर्फ्यू है और इसे सफल बनाने की जिम्मेदारी हम सभी की है इसलिए उन्होंने सभी छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों से तय समय पर घर पर रहने का आग्रह किया।
निशंक ने बताया कि मंत्रालय द्वारा कुछ डिजिटल इनीशिएटिव लिए गए हैं जिनका लाभ सभी विद्यार्थी जनता कर्फ्यू के समय अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए उठा सकते हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इन डिजिटल पहलों का उपयोग नि: शुल्क है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की प्रमुख डिजिटल पहल इस प्रकार हैं –

स्कूली शिक्षा- दीक्षा (DIKSHA)
दीक्षा प्लैटफ़ॉर्म विद्यालय पाठ्यक्रम से सम्बंधित सीखने की रोचक सामग्री शिक्षकों,विद्यार्थियों एवं अभिभावकों के लिए उपलब्ध कराता है ।इस ऐप को आइओएस एवं गूगल प्लेस्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

ई-पाठशाला (E-Pathshala)
इस वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप (एंड्राइड, आइओएस और विंडोज) को एनसीइआरटी द्वारा डिज़ाइन किया गया है। इस पोर्टल पर 1886 ऑडियो सामाग्री, 2000 वीडियो, 696 ई-पुस्तकें (ई-पब्स) और 504 फ्लिप पुस्तकें उपलब्ध हैं| विद्यार्थी कक्षा IX से XII के लिए उपलब्ध रोचक, संवर्धित ई-सामाग्री का लाभ उठा सकते हैं।

स्वयं (SWAYAM)
इस ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफ़ॉर्म पर विद्यालयी और उच्च शिक्षा के विभिन्न ऑनलाइन पाठ्यक्रम प्रस्तुत हैं | एनसीईआरटी ने कक्षा IX – XII के लिए विद्यालयी शिक्षा प्रणाली हेतु 12 विषयों में 28 कोर्स मॉड्यूल विकसित किए हैं |

राष्ट्रीय मुक्त शैक्षिक संसाधन कोष (NROER)
यह पोर्टल विविध विषयों पर आधारित अनेक भाषाओं के गुणवत्तापूर्ण डिजिटल सामग्री से युक्त है| इसमें कुल 14,527 फ़ाइलें हैं जिसमें 401 संकलन, 2779 दस्तावेज़, 1345 इंटरैक्टिव सामग्री, 1664 ऑडियो सामग्री, 2,586 तस्वीरें और 6,153 वीडियो कार्यक्रम हैं|

स्वयं प्रभा (SWAYAM PRABHA)
चैनल नम्बर 31 ‘किशोर मंच’ पर कक्षा IX – XII के लिए सभी विषयों में एनसीईआरटी द्वारा मान्यता प्राप्त ई-सामग्री 24X7 प्रसारित की जाती है| चयनित राज्यों के लिए प्रतिदिन 4 घंटे की समयावधि स्वयं प्रभा डीटीएच पर अनुमोदित की गई है जहाँ चल रहे पाठ्यक्रम के अनुरूप विद्यालयी शिक्षा की ई कक्षाएँ प्रसारित की जाएगी|

निष्ठा (NISHTHA)
समेकित शिक्षक प्रशिक्षण पोर्टल और मोबाइल ऐप (ऐनरोयेड)| डाइट, डीएलएड संस्थाओं के शिक्षक और शिक्षक प्रशिक्षक सभी कोर्स-मॉड्यूल्स, वीडियो, ऑडियो एवं अन्य सामाग्री किसी भी समय, कहीं भी, नि:शुल्क ऑनलाइन देख सकते हैं|

उच्च शिक्षा- स्वयं (SWAYAM)
ऑनलाइन शैक्षिक प्लेटफ़ॉर्म ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में पाठ्यक्रमों को प्रस्तुत करता है| इन पाठ्यक्रमों को कोई भी, कहीं भी और किसी भी समय देख सकता है| सभी पाठ्यक्रम अंतःक्रियात्मक(इंटरैक्टिव) हैं और देश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों द्वारा तैयार किए गए हैं और किसी भी शिक्षार्थी के लिए नि:शुल्क उपलब्ध हैं|

स्वयंप्रभा (SWAYAM PRABHA)
स्वयंप्रभा के 32 चैनल, जो कि 24*7 गुणवत्ता परक उच्च शिक्षा की विषय वस्तु प्रसारित करते हैं, की मदद से आप घर बैठे नए कौशल अर्पित कर सकते हैं और अपनी उत्पादकता बढ़ा सकते हैं ।
उपरोक्त सभी प्लेटफार्मों/सुविधाओं तक पहुंच/लॉगइन निशुल्क है।

LEAVE A REPLY