भाजपा के वरिष्ठ नेता ने किया त्रिवेंद्र पर बड़ा हमला

0
31

पूर्व मंत्री ने मुख्यमंत्री को पद से हटाने के लिए प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

देहरादूनः अपनी ही पार्टी का वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री मुख्यमंत्री को कुर्सी से हटाने की मांग करे तो यह छोटी बात नहीं है। अपनी ही पार्टी के विधायकों के निशाने पर आ रहे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ इस बार टिहरी के पूर्व विधायक लाखीराम जोशी ने बड़ा हमला किया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे पत्र में लिखा है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ कोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं, इसलिए उन्हें पद से हटाकर उनकी जांच कराई जाए। उन्होंने एक समाचार पोर्टल के कार्यक्रम में भी लचर शैली पर प्रदेश सरकार को कोसा था। उधर, बताया जाता है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस मसले पर बहुत नाराज हो गए। उनके चहेते पत्रकार ने एक पोर्टल पर लाखी राम जोशी को ही उनका ’इतिहास याद दिलाया’ तो इस पर त्रिवेंद्र रावत संतुष्ट हो गए।


पूर्व कैबिनेट मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता लाखी राम जोशी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर हमलावर हो गए हैं। उन्होंने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि त्रिवेंद्र रावत के अनेक विवादास्पद निर्णयों से उत्तराखंड सरकार और भारतीय जनता पार्टी शर्मसार हुई है। हाईकोर्ट ने त्रिवेंद्र रावत के खिलाफ भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने स्टे दिया है। मुख्यमंत्री पर लगे इन आरोपों के कारण उत्तराखंड में पार्टी की छवि धूमिल हो रही है। इसलिए उन्हें पदमुक्त किया जाए। वहीं, श्री जोशी ने एक पोर्टल के कार्यक्रम में भी सरकार पर आरोप लगाए थे। उन्होंने उक्त कार्यक्रम में कुछ मसलों पर राज्य सरकार को कोसा था। उनका कहना था कि सरकार हम जैसे अनुभवी लोगों का लाभ नहीं ले रही है। सरकार को उन लोगों से राज्यहित में कार्य लेना चाहिए, जो अनुभवी हैं और राज्य के लिए कुछ करना चाहते हैं।
बताया जाता है कि इस पर त्रिवेंद्र रावत खासे नाराज हैं। उनके चहेते एक पत्रकार ने अपने पोर्टल में एक स्टोरी प्रसारित कर श्री जोशी को उनका ’इतिहास याद दिलाने’ का प्रयास किया। इस खबर को पढ़कर त्रिवेंद्र रावत संतुष्ट नजर आए। जब संबंधित पत्रकार ने उन्हें उक्त समाचार भेजा तो उन्होंने खबर के नीचे ’ठीक च’ भी लिखा है। एक मोबाइल के व्हट्सप चैट के स्क्रीन शाॅट पर यह संवाद साफ नजर आ रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि उक्त खबर प्लांड न्यूज थी और बनाने से पहले वह मुख्यमंत्री के संज्ञान में लायी गयी।
उधर, श्री जोशी के इस पत्र के बाद त्रिवेंद्र रावत की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। यह पत्र सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस पत्र को उत्तराखंड की सियासत में बड़ा अहम माना जा रहा है।दूसरी ओर लखीराम जोशी की भी मुश्किलें बढ़ती दिख रही,भाजपा ने उन्हें निलम्बन का नोटिस भेज दिया है।

LEAVE A REPLY