जेईई मेंस की परीक्षाएं अब साल में चार बार

0
98

तिथियां घोषित, डाॅ. निशंक बोले-छात्रों को मिलेंगे अधिक अवसर

नई दिल्ली। जेईई मेंस की परीक्षा अब सालभर में चार बार-फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई में होगी। इन परीक्षाओं की तिथियां भी घोषित कर दी गयी हैं।
यह खुलासा करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. रमेश पोखरियाल निशंक ने बताया कि संबंध मंे आए लोगों के विभिन्न सुझावों और आग्रहों के दृष्टिगत यह निर्णय लिया गया है। पहली परीक्षा 23-26 फरवरी को आयोजित होगी। परीक्षा का दूसरा सेशन 15-18 मार्च को होगा। अप्रैल में यह परीक्षा 27 और 30 तारीख को होगी, जबकि परीक्षार्थी फाइनल अटैम्प्ट 24-28 मई को दे सकेंगे। डाॅ. निशंक ने बताया कि इस निर्णय से उन विद्यार्थियों के सामने परीक्षा देने के अधिक अवसर उपलब्ध हो पाएंगे, जो एक ही बार में सफल नहीं हो पाते थे। इससे अनेक विद्यार्थियों का साल खराब होने से भी बच जाएगा। यानी उनके समय का सदुपयोग हो पाएगा।
केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. निशंक ने बताया कि परीक्षार्थी को सभी चार सेशनों में शामिल होने की आवश्यकता नहीं होगी। यदि कोई अभ्यर्थी एक से अधिक सेशन में शामिल होता है तो मेरिट लिस्ट या रैंकिंग के लिए उसके बेस्ट 2021 एनटीए स्कोर पर विचार किया जाएगा। अभ्यर्थी को केवल आॅनलाइन मोड माध्यम से ही जेईई मेंस-2021 के लिए आवेदन करना होगा। आवेदन करने की तिथि 16 दिसंबर, 2020 से 16 जनवरी, 2021 के बीच निर्धारित है। फीस भी (चारों सेशनों के लिए ) आॅनलाइन मोड से ही 17 जनवरी तक दी जा सकेगी।
डाॅ. निशंक ने बताया कि अभ्यर्थी को परीक्षा के लिए अपनी पसंद के कोई चार शहर चुनने होंगे। पूरा प्रयास किया जाएगा कि अभ्यर्थी की पसंद की प्राथमिकताओं के हिसाब से उसे परीक्षा केंद्र अलाॅट किए जाएं। जो अभ्यर्थी एक से अधिक सेशन के लिए आवेदन करते हैं, वे अपनी पसंद के शहरों को करक्शन विंडो में जाकर बदल सकते हैं। डाॅ. निशंक ने बताया कि इस समय पहली बार जेईई मेंस की परीक्षाएं क्षेत्रीय भाषाओं-आसामी, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी और उड़िया आदि में होंगी।

LEAVE A REPLY